किसानों को मिलेंगे 7000 रूपये – मेरा पानी, मेरी विरासत योजना

किसानों को मिलेंगे 7000 रूपये – मेरा पानी, मेरी विरासत योजना, धान की खेती नहीं करने वाले किसानों को देगी 7000 रूपये, Mera Pani Meri Virasat – हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, हरियाणा किसान बड़ी खबर

इससे पहले खबर आयी थी कि किसानों को खेती न करने पर 2000 रूपये दे रही हरियाणा सरकार, जो कि अब बढाकर 7000 रूपये कर दी गयी है।

हरियाणा किसानों को मिलेंगे 7000 रूपये
हरियाणा किसानों को मिलेंगे 7000 रूपये

किसानों को मिलेंगे 7000 रूपये – मेरा पानी, मेरी विरासत योजना

वैसे तो सभी को पता ही है की भारत एक कृषि प्रधान देश है जंहा आज भी 80 प्रतिशत जनसख्याँ खेती करती है और विश्व में सबसे ज्यादा धान की खेती करने वाला देश भी भारत है और धान की खेती करने के लिए सबसे ज्यादा पानी की जरूरत पड़ती है। एक अनुमान के अनुसार एक किलो धान की फसल को उगाने के लिए 5 हज़ार लीटर पानी की आवश्यकता होती है।

किसान भरें ये फॉर्म – PM किसान योजना के 6,000 मिल जायेंगे

हरियाणा किसानों को मिलेगी बड़ी राहत

और गर्मियों का मौसम है ऐसी स्थिति में ज्यादा पानी उपयोग होने के कारण पानी का स्तर लगातार निचे जा रहे है जिसके कारण लोगो को अभी से ही पानी की समस्याओ का सामना करना पड़ रहा है। ऊपर से चिलचलाती धुप भी पड़ रही है ऐसे स्थिति में पानी की बर्बादी को रोकने के लिए हरियाणा सरकार की तरफ से एक योजना शुरू की गयी है, जिसका नाम रखा गया है मेरा पानी- मेरी विरासत योजना। इस योजना के अंतर्गत हरियाणा का कोई किसान अगर धान की खेती छोड़ता है मतलब धान की खेती नही करता है तो उसको हरियाणा सरकार की तरफ से प्रति अकड़ 7 हज़ार रूपये देने की घोषणा की है।

हरियाणा जनसहायक एप से लॉकडाउन में ऐसे होगी सबकी Help Jan Sahayak App Download

इससे पहले हरियाणा सरकार ने 2 हज़ार रूपये प्रति अकड़ देने की बात कही थी लेकिन किसानो ने इस बात को स्वीकार नहीं किया था ऐसे में हरियाणा सरकार ने फिर से इस योजना में बदलाव करते हुए अब 7 हज़ार रूपये प्रति एकड़ देने की घोषणा की है।

किसानों को मिलेंगे बीज एवं खाद फ्री में – Pm Kisan Yojana News

मेरा पानी, मेरी विरासत योजना को शुरू करने का उद्देश्य:-

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है इस योजना योजना को शुरू करने के पीछे मकसद है। ज्यादा से ज्यादा पानी की बचत करना है और जिन क्षेत्रो में भू-जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है और उस क्षेत्र में धान की खेती ज्यादा की जाती है ऐसे में पानी के अभाव होने के बावजूद लोग धान की खेती कर रहे है। इसलिए इस योजना के माध्यम से किसानो को धान की खेती छोड़ने के लिए प्रेरित करना है। इसलिए इस योजना को शुरू किया गया है और धान की खेती छोड़ने के वाले किसानो को 7000 रूपये प्रति एकड़ के हिसाब से दिया जायेगा।

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना में किसानो को अब ऐसे मिलेगा गाय भैंस से लाभ

फ़िलहाल मेरा पानी-मेरा विरासत योजना को लांच किया गया है। इसके लिए अभी तक योजना के प्रचार के लिए वेब पोर्टल लांच नहीं किया है। लेकिन जल्द ही इस योजना का वेब पोर्टल लांच कर दिया जायेगा।

Kisan Credit Card (KCC) फॉर्म कैसे भरें

मेरा पानी, मेरी विरासत योजना को कौन-कौनसे क्षेत्रो में लागु की गयी है?

धान की खेती सबसे ज्यादा कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा, फतेहाबाद में रतिया और कुरुक्षेत्र में शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पिपली और बबैन में की जा रही है। और यहाँ का भूजल स्तर भी 40 मीटर से भी अधिक जा चूका है। इसलिए फ़िलहाल  इस योजना को 19 ब्लॉक में लागु की जाएगी उसके बाद इस योजना का विस्तार किया जायेगा।

पीएम किसान योजना छठी किस्त अगस्त में आएगी – PM Kisan 6th Kist

लेकिन किसान धान की फसल के अलावा किसी अन्य फसल की खेती कर सकते है

किसान धान की फसल के अलावा किसी अन्य फसल की बुवाई कर सकते है फिर भी किसान को धान की खेती छोड़ने पर इस योजना का लाभ दिया जायेगा।

इसलिए सरकार के द्वारा किसानो को धान की फसल छोड़कर दाल व सब्जी की खेती करने के लिए अधिक जोर दिया जा रहा है। इसकेलिए किसानो को दाल के बीजो व सब्जी के बीजो की खरीदारी करने के लिए सरकार के द्वारा सब्सिडी भी दी जा रही है।

इसके अलावा जिन क्षेत्रो में ये योजना लागु नही है और वो लोग धान की खेती छोड़ना चाहते है तो वो भी इस योजना का लाभ उठा सकते है।

PM Kisan Beneficiary Status 2020Click
इन किसानों को नहीं मिलेगा PM किसान योजना का लाभClick
PM उज्‍ज्‍वला योजना लिस्‍ट में नाम कैसे देखेंClick
500 रूपये दूसरी किस्त आयी है या नहीं ऐसे चैक करेंClick
PM Kisan Rejected List 2020Click

Share this post:

Leave a Comment