E-Name एप्प से किसानों ने कमाया 8.5 करोड़ का लाभ

लॉकडाऊन में भी किसान समूहों ने बेचे 8.5 करोड़ रुपये के कृषि उत्पाद PM Kisan Lockdown News

E-Name एप्प से किसानो ने बेचे 8.5 करोड़ रुपये के कृषि उत्पाद – लॉकडाउन में कमाया लाभ

E-Name एप्प से किसानो ने कमाया 8.5 करोड़ का लाभ
E-Name एप्प से किसानों ने कमाया 8.5 करोड़ का लाभ
योजना का नामPM KISAN E-NAME YOJANA
LocationAll India All States
डिटेलKisan Yojana Benefits & Eligibility
DateKisan Yojana 2020

E-Name एप्प से किसानों ने कमाया 8.5 करोड़ का लाभ

वैसे तो सभी को पता है कोरोना वायरस के कारण पुरे विश्व में माहमारी का रूप ले चूका है जिसके कारण पुरे विश्व भर में 2 लाख से ज्यादा लोगो की मौत हो चुकी है अब ये वायरस भारत में भी तेजी से फ़ैल रहा है इस कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भारत में 3 मई तक का लॉकडाउन किया गया है जिसमे सबसे ज्यादा नुकसान किसानो और गरीब परिवारों का है लेकिन महाराष्ट्र के अकोला के किसान ने इस लॉकडाउन का सबसे अच्छा सदुउपयोग किया है।

महाराष्ट्र के अकोला के किसानो ने लॉकडाउन का लाभ उठाते हुए भी प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए 8.5 करोड़ रुपये के कृषि उत्पाद बेच दिए है जो एक अनोखा रिकॉर्ड है जंहा पुरे भारत में इन किसानो की तारीफ की जा रही है।

इसके बार में जानकारी एक वरिष्ठ कृषि अधिकारी ने शनिवार को दी थी

जिसमे उन्होंने बताया की कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च से देशव्यापी लॉकडाउन चल रहा है जिसके चलते किसानो ने राज्य के कृषि विभाग और कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंधन एजेंसी (एटीएमए) की मदद लेते हुए अकोला जिले के किसानो ने कृषि उत्पाद के लिए ग्राहकों से सीधे आर्डर लेने शुरू कर दिए थे उसके लिए जिले भर में 69 किसान समूह बनाये गये थे जो सभी ग्राहकों के आर्डर लेते थे।

किसानो को मिलेंगे 15000 रुपए – पीएम किसान बड़ी खबर

जिसमे सारा काम ऑनलाइन किया गया था मतलब कृषि उत्पाद के बेचने में मोबाइल फ़ोन ने भी एक महत्वपूर्ण निभाई है।

कृषि उत्पाद को बेचने के लिए शहरी क्षेत्र में 93 सेंटर खोले गये थे इन सेंटर के माध्यम से अभी तक 850 टन उपज बेची जा चुकी है जिसकी अनुमानिंत लागत 8.5 करोड़ रुपये बताई जा रही है।

अगर कोई किसान लॉकडाउन के दौरान इस तरह ऑनलाइन अपने कृषि उत्पाद बेचना चाहता है तो वो E-name योजना का उपयोग करके अपने कृषि उत्पाद ऑनलाइन बेच सकता है।

क्या है E-Name योजना?

 E-Name एक इलेक्ट्रॉनिक कृषि पोर्टल है जो भारत भर की सभी छोटी बड़ी कृषि मंडियों को किसानो से एक साथ जोड़ते है जिसे कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय विभाग द्वारा ऑपरेट किया जा रहा है जिससे किसान अपनी उपज को किसी भी मंडी में ऑनलाइन बेच सकता है और खरीद भी सकता है ये बिलकुल फ्री है इसके लिए किसी भी तरह का चार्ज नही देना होता है।

किसानों को मिलेंगे 25 हजार रु तीन किस्तों में PM Kisan Ashirwad Yojana

E-name योजना के लाभ :-

इस योजना के द्वारा किसान घर बेठे अपनी फसल को ऑनलाइन अपने मोबाइल के द्वारा बेच सकता है इसके लिए किसान को कही पर जाने की जरूरत नही पड़ेगी।

  • इसके द्वारा बिचौलिया और कमीशन एजेंटों से बचा जा सकते है।
  • इसके द्वारा किसानो को उनकी फसल का सही दाम मिलेगा।

और इस योजना में फसल बेचने या खरीदने पर ऑनलाइन पेमेंट बैंक अकाउंट में डायरेक्ट ट्रान्सफर किया जायेगा है।

केंद्र सरकार: किसानों को 3 दिन के भीतर मिल जायेगा फसलों का दाम

E-name में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे :-

इस योजना का लाभ लेने के लिए आप इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट https://www.enam.gov.in/web/ पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते है।

इसके अलावा इस योजना का ऑफिसियल मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करके  इसमें रजिस्ट्रेशन करा सकते है उसके बाद आप ऑनलाइन कृषि उत्पाद को बेच या खरीद सकते है।

पीएम किसान हेल्पलाइन नंबरClick Here
किसान योजना न्यूज़यँहा देखें
सभी सरकारी योजनाClick Here
प्रधानमंत्री योजनाएंClick Here
प्रधानमंत्री किसान योजनायँहा देखें

Share this post:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: