किसान क्रेडिट कार्ड के लोन में मिली राहत – 31 मई तक नहीं देना ब्याज PM Kisan Yojana

किसान क्रेडिट कार्ड पर अब 31 मई तक नही देना होगा ब्याज PM Kisan Yojana KCC Scheme Laon Byaz Mafi Scheme

किसान क्रेडिट कार्ड के लोन में मिली राहत
किसान क्रेडिट कार्ड के लोन में मिली राहत – 31 मई तक नहीं देना ब्याज

ये तो सभी को पता है की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानो को 6-6 हजार रूपये की आर्थिक मदद दी जाती है जो 2-2 रूपये की तीन किस्तों के रूप में दी जा रही है।

लेकिन साथ में इस योजना के अंतर्गत किसानो को किसान क्रेडिट कार्ड भी बनाकर दिया जाता है जिसमे किसानो को 1.60 लाख रूपये से लेकर 3 लाख रूपये तक का लोन दिया जाता है वो भी बिना गारेन्टी के और  बहुत कम ब्याज दर पर किसानो को ये लोन उपलब्ध करवाया जाता है।

Kisan Credit Card (KCC) फॉर्म कैसे भरें

किसान क्रेडिट कार्ड के लोन में मिली राहत

लॉकडाउन के कारण सभी लोगो के काम धंदे बंद है और किसानो को भी घर में रहने के लिए कहा गया है जिसके कारण किसान अपनी फसल को भी नही काट पा रहे है। जिससे किसानो को भी काफी नुकसान का सामना करना पड़ा है। जिसको देखते हुए मोदी सरकार ने किसानो को बड़ी राहत देते हुए किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा दिया गया लोन पर तीन महीने तक ब्याज राशि पर छूट दी गयी है। जो 31 मई 2020 तक लागु रहेंगी तथा तीन महीने तक लोन की क़िस्त जमा कराने पर भी छूट दी गयी है।

क्या है किसान क्रेडिट कार्ड :-

किसान क्रेडिट कार्ड एक प्रकार का ATM कार्ड जैसा ही एक कार्ड होता है जो बैंक के द्वारा जारी जाता है। इस कार्ड के द्वारा किसानो को लोन मुहिया कराया जाता है ये कार्ड सिर्फ किसानो के बनाये जाते है।

ये किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा किसान की जमीन को जोतने में आने वाले खर्च के हिसाब उसको लोन दिया जाता है।

कुछ जरूरी बाते:-

लॉकडाउन के कारण इसके अलावा देश में जितने भी लोन देने वाली सरकारी और गैर सरकारी संस्था है उन सभी को आरबीआई के द्वारा सुझाव दिया गया है की जिन लोगो EMI चल रही है उन सभी लोगो को तीन महीने तक EMI भरने की छूट दी जाये।

तथा तीन महीने तक ब्याज राशि में भी छूट दी जाये।

पीएम किसान हेल्पलाइन नंबरClick Here
किसान योजना न्यूज़यँहा देखें
सभी सरकारी योजनाClick Here
प्रधानमंत्री योजनाएंClick Here
प्रधानमंत्री किसान योजनायँहा देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *