Aatm Nirbhar Bharat खेती-किसानी के लिए 1 लाख करोड़ रूपये की घोषणा – जानें बड़ी खबर

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana Latest Update 2020 खेती-किसानी के लिए 1 लाख करोड़ रूपये की घोषणा – जानें बड़ी खबर,

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana Latest Update

कोरोना वायरस के कारण हमारे देश में 19 मई 2020 तक का लॉकडाउन किया गया है लेकिन अब इस लॉकडाउन को आगे भी बढ़ाया जाएग इसकी जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही दे चुके है। लॉकडाउन के कारण देश भर में उधोग धंदे सब बंद पड़े है जिससे सरकार को आय आना भी बंद हो गया है। जिसके कारण भारत की जीडीपी भी 0% रहने का अनुमान है लॉकडाउन होने के करना अर्थव्यस्था सुस्त पड़ी है।

बड़ी खबर! डॉ. हर्षवर्धन बने WHO के नए अध्यक्ष – 22 मई को संभालेंगे पद

इसलिए अर्थव्यस्था को चलाने व लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान से लोगो को उभारने के लिए मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ रूपये का राहत पैकेज देने के ऐलान किया गया है। जिसकी दो किस्तों के बारे में जानकारी वित्त मंत्री पहले ही दे चुकी है की कितना पैसा कहा पर खर्च किया जायेगा। लेकिन आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा तीसरी क़िस्त के लिए डेढ़ लाख करोड़ रुपए की घोषणा की है जिसमे खेती-किसानी से सबंधित 11 बड़ी घोषणा की गयी है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज2 – 10 बड़ी घोषणा – जानें बड़ी खबर

केंद्र सरकार ने दिए कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ रुपए

किसान हमारे देश के अन्न दाता है और वो पुरे देश का पेट भरते है उसके साथ साथ विदेशो में भी अनाज को निर्यात करते है और लॉकडाउन होने के कारण किसानो को भी काफी नुकसान हुआ है। इसलिए किसानो की मदद करने के लिए सरकार की तरफ से कृषि इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की मदद दी गयी है। इसका लाभ देश के कृषि उत्पादक संघ व कृषि स्टार्टअप को होगा।

आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना 2020 – मिलेंगे ये 10 बड़े लाभ

पशुपालन में इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए दिए 15 हजार करोड़ रूपये

देश में पशुपालन के इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए सरकार 15 हजार करोड़ रूपये देने की घोषणा की है जिससे ज्यादा से ज्यादा दूध उत्पादन किया जा सके और रोजगार के और ज्यादा अवसर पैदा हो।

कृषि उत्पाद को ब्रैंड बनाने के लिए खाद्य प्रसंस्करण को 10 हजार करोड़ रुपए

देश भर के अलग अलग हिस्सों में खाद्य प्रसंस्करण की कम से कम 2 लाख नयी यूनिट खोली जाएगी। जिससे अलग अलग क्षेत्रो में मजूद उत्पाद को ब्रैंड बनाया जा सके। इससे देश के लाखो लोगो को रोजगार मिलेगा और देश की अर्थव्यवस्था को और ज्यादा बल मिलेगा।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना 2020 – ऑनलाइन सब्सिडी आवेदन फॉर्म

पीएम मतस्य संपदा योजना के अंतर्गत इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए 20 हजार करोड़ रुपए

मतस्य पालन के द्वारा हमारे देश भर में 55 लाख से ज्यादा लोगो को रोजगार मिलता है। इसलिए मत्स्य पालन में और अधिक रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए व निर्यात को दुगुना करने के लिए व समुद्री मत्स्य पालन में जो कमिया है उसको दूर करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा 11 हजार करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

इसके अलावा इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए सरकार के द्वारा 9 हज़ार करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे।

पीएम किसान योजना छठी किस्त अगस्त में आएगी – PM Kisan 6th Kist

मधुमक्खी पालन के लिए दिए 500 करोड़ रूपये

मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ रूपये खर्च किया जायेंगे ग्रामीण क्षेत्रो में निवास करने वाले लोग जो मधुमक्खी पालन करते है उन लोगो को इस इसका लाभ मिलेगा। इसलिए मधुमक्खी पालन को और अधिक बढ़ाने के लिए जिससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार के अवसर पैदा हो उपभोक्ताओं को बेहतर शहद मिल सके। 500 करोड़ का लाभ देश भर के 2 लाख मधुमक्खी पालन करने वाले लोगो को मिलेगा ये पैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने के लिए खर्च किये जायेंगे ताकि लोगो की आय में वृद्धि हो सके।

यूपी MSME लोन मेला योजना शुरू – लॉकडाउन में उद्योगों को राहत

टॉप टु टोटल योजना के लिए 500 करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे

इस योजना के अंतर्गत देश भर के किसानो को लाभ मिलेगा क्योंकि देश भर के किसान जब कभी अपनी फसल जैसे फल, सब्जी को समय पर बाजार में नहीं पहुंचा पाते है या किसी कारण बाजार बंद होने के कारण किसान अपनी सब्जी को बाजार में बेच नहीं पाता है। जिसके कारण किसान अपनी फसल को खराब होने से बचाने के लिए सस्ते दामों  में अपनी फसल बेच देता है। इसलिए इस योजना के द्वारा किसानो को लाभ देने के लिए मालभाड़े पर 50 फीसदी सब्सिडी और 50 फीसदी स्टोरेज, कोल्ड स्टोरेज के लिए अलग से दी जाएगी।

इस मोदी योजना से लॉकडाउन मिलेगा रोजगार – जानें बड़ी खबर

ऑर्गेनिक और हर्बल उत्पादों के 4 हज़ार करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे

हर्बल उत्पादों के लिए देश भर में हर्बल की ज्यादा से ज्यादा कृषि करने के लिए सरकार के द्वारा 4 हज़ार करोड़ रूपये खर्च किये जायेंगे। इसके द्वारा देश भर में  25 लाख एकड़ में खेती की जाएगी जिससे देश भर में 5 हजार करोड़ रुपए का लाभ मिलेगा।

पशुओ को पका-खुर पका बीमारी से बचाने के लिए 13,343 करोड़ रुपए खर्च किये जायेंगे

 इस योजना के तहत देश भर के पशुओ को पका-खुर पका बीमारी से बचाने के लिए 53 करोड़ पशुओं को टीका लगाया जायेगा उसके लिए 13,343 करोड़ रुपए खर्च किये जायेंगे।

किसानों की मदद के लिए नया ऐप लांच – बागवान मित्र मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड

Share this post:

Leave a Comment