लॉकडाउन के कारण किसानों को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के कदम

किसानों के हित में उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने किसानों के लिए उठाये महत्वपूर्ण कदम. कृषि मजदूरों से लेकर मुख्य किसानों को मिल रहा लाभ. Uttar Pradesh PM Kisan Yojana List In Lockdown

UP Kisan Yojana LockdownUP Kisan Yojana Lockdown

कोरोना वायरस की महामारी से इस वक्त पूरी दुनिया जूझ रही है, और इसके कारण हर वर्ग प्रभावित हो रहा है। भारत में 21 दिनों के लॉकडाउन का भी खासा असर देखा जा रहा है, जिससे देश के किसान भी अछूते नहीं है। लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार ने मुसीबत के इस वक्त में किसानों की समस्याओं को समझते हुए कई राहत भरे कदम उठाए हैं। इन कदमों के चलते प्रदेश के किसान पर लॉकडाउन का अधिक प्रभाव नहीं पड़ रहा साथ ही उन्हें आर्थिक और मानसिक संबल मिल रहा है, आइए जानते है सरकार के कुछ ऐसे ही किसान हितैषी कदमों के बारे में। 

खाद, बीज, कृषि रसायनों की दुकानों को छूट

खाद, बीज, कृषि रसायनों की दुकानों को छूट- लॉकडाउन के कारण भले ही उत्तर प्रदेश में सभी संस्थान बंद हो गए हों, लेकिन किसानों की जरूरत और नई फसल की बुवाई के मद्देनजर उत्तर प्रदेश सरकार ने खाद, बीज के साथ कृषि रक्षा रसायनों की दुकानों को लॉकडाउन के दौरान भी खुले रखने का फैसला लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के एसपी और डीएम और यह निर्देश दिया, कि वह यह सुनिश्चित करें, कि किसान के लिए खाद, बीज और अन्य जरूरी रसायनों की आपूर्ति जारी रहे। इसके लिए संबंधित वस्तुओं के उत्पाद, परिवहन और लोडिंग, अनलोडिंग से जुड़े मजदूरों को भी लॉकडाउन में छूट दी गई है।

फसलों की कटाई की समुचित व्यवस्था

फसलों की कटाई की समुचित व्यवस्था- उत्तर प्रदेश की सरकार ने खेतों में खड़ी किसानों की फसल की कटाई को लेकर भी समुचित व्यवस्था की है। सरकार के द्वारा कटाई के लिए हार्वेस्टर और मजदूरों के लिए भी लॉकडाउन में छूट प्रदान की गई है। इसके चलते किसानों को अपनी उपज घर पहुंचाने में ज्यादा परेशानी नहीं हो रही। हालांकि इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने किसानों से अपील की है, कि वह कटाई और अन्य खेती संबंधी कार्यों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें।

फसलों की खरीद भी शुरू की

फसलों की खरीद भी शुरू की- विपरीत परिस्थितियों में किसानों की जरूरतों को समझते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने उनकी फसलों की खरीदी भी शुरू कर दी है। प्रदेश सरकार द्वारा 2 अप्रैल से ही न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर फसलों की खरीदी की जा रही है। फिलहाल सरकार सरसो, चना और मसूर की खरीदी कर रही है। ये खरीद प्रक्रिया कुल 90 दिनों तक चलेगी, इस दौरान सरकार 2.64 लाख मीट्रिक टन सरसो, 2.01 लाख मीट्रिक टन चना और 1.21 लाख मीट्रिक टन मसूर किसानों से खरीदेगी। 

प्राकृतिक आपदा का भी मुआवजा मिलेगा

प्राकृतिक आपदा का भी मुआवजा मिलेगा – पिछले कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश के बड़े हिस्से में ओला वृष्टि और अति वृष्टि के कारण किसानों की फसलों का काफी क्षति पहुंची थी। इसकी भरपाई के लिए भी प्रदेश सरकार गंभीर है, और सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के डीएम को यह निर्देश दिए हैं, कि वह इस नुकसान का आंकलन कर किसानों को फसल बीमा की राशि का लाभ दिलवाना सुनिश्चित करें, इसके लिए प्रशासन स्तर पर सर्वे कार्य भी शुरू हो गए है, साथ ही लगभग 90 हजार किसानों के आवेदन भी राजस्व विभाग को प्राप्त हो चुके हैं।

कृषि आधारित मजदूरों के लिए राहत

कृषि आधारित मजदूरों के लिए राहत – इस लॉकडाउन का सबसे अधिक असर कृषि पर आधारित दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ रहा है। इनकी सहूलियत के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रभावी कदम उठाए हैं। सरकार ने प्रदेश के लाखों मजदूरों के खाते में एक एक हजार रुपये की राशि पहुंचाई है, जिससे वह इस विपरीत समय में अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा कर सके। इसके साथ ही 1 अप्रैल से अंत्योदय एवं पात्र सुरक्षा के कार्ड धारकों के लिए मुफ्त अनाज देने की व्यवस्था भी की जा रही है। इसके तहत सरकार संबंधित मजदूरों को एक मुश्त तीन महीने का राशन दे रही है।

Share this post:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: