उत्तर प्रदेश में 30 अप्रैल तक बढ़ी किसान आसान किस्त योजना की अवधि

By | April 7, 2020

किसान आसान किस्त योजना 30 अप्रैल तक बढ़ी | Kisan Aasan Kist Yojana 2020

UP Asan Kist Yojana Last Date
UP Asan Kist Yojana Last Date

किसान आसान क़िस्त योजना का बढ़ा समय किसानो को मिलेगा और अधिक फायदा.

उत्तर प्रदेश आसान किश्त योजना 2020 – 30 अप्रैल तक बढ़ी तारीख

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉक डाउन का असर हर वर्ग पर पड़ रहा है, और इसके कारण लोगों को आर्थिक अनियमितताओं का सामना करना पड़ रहा है। कुछ ऐसा ही हाल उत्तर प्रदेश के किसानों का भी है, जो इस लॉक डाउन के कारण विपरीत स्थितियों का सामना कर रहे हैं, किसानों की इसी समस्या को समझते हुए उत्तर प्रदेश सरकार एवं पावर कॉर्पोरेशन ऑफ यूपी ने एक किसान हितैषी फैसला लिया है, इसके तहत आसान किस्त योजना की किस्त जमा करने की अवधि बढ़ा दी गई है और किसानों को किस्त जमा करने के लिए 1 महीने का अतिरिक्त समय दिया गया है। 

30 अप्रैल तक बढ़ी तारीख

किसानों की सहूलियत को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने आसान किस्त योजना की तारीख को एक महीने बढ़ाकर 30 अप्रैल तक कर दिया है। अब इस योजना के लाभार्थी अपनी किस्त 30 अप्रैल तक भर सकेंगे, जिस पर उन्हें कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा। यही नहीं, बल्कि इस दौरान उपभोक्ताओं को देय तिथि तक मिलने वाली एक प्रतिशत छूट का भी लाभ मिलेगा। आपको बतादें, कि कोरोना के कारण लॉक डाउन की समस्या को देखते हुए, राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद ने सरकार के सामने किस्त जमा करने की तारीख बढ़ाने की मांग की थी, जिसके मद्देनजर सरकार ने यह फैसला लिया, सरकार के इस फैसले से प्रदेश के साढ़े तीन लाख से अधिक किसान लाभान्वित होंगे।

क्या है किसान आसान किस्त योजना ?

उत्तर प्रदेश सरकार के ऊर्जा विभाग ने प्रदेश के किसानों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए, ट्यूबवेल और नलकूपों के बकाया बिलों का भुगतान आसान किस्तों में ब्याजमाफी के साथ किए जाने के लिए किसान आसान किस्त योजना की शुरुआत की थी। इस योजना की शुरूआत 1 फरवरी 2020 से की गई, जिसके तहत आवेदक किसान को नजदीकी सीएससी, उपखंड अधिकारी या अधिशाषी अभियंता कार्यालय में बकाये का पांच फीसदी या न्यूनतम 1500 रूपये के साथ वर्तमान बिल भी जमा करना होगा। इसके बाद उन्हें 6 किस्त में बकाया राशि के भुगतान का विकल्प मिल जाएगा। उन्हें हर माह किस्त के साथ उस महीने का बिल भी जमा करना होगा। बची हुई पूरी राशि का समय से भुगतान करने पर किसान का ब्याज माफ कर दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश में अब तक तीन लाख 61 हजार से अधिक किसान इस योजना का लाभ ले चुके हैं।

नामआसान किश्त योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
किसके द्वारा लागू की गयीमुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ
कब से शुरू हुई है?11 नवंबर 2019 से
लाभार्थीगरीब लोग
लाभआसान किश्तों में बकाया बिजली बिल भुगतान
आवेदन का तरीकाऑनलाइन
पोर्टलhttp://upenergy.in/uppcl/en
अंतिम तिथि क्या है?पहले 31 दिसंबर 2019 थी, अब 30 अप्रैल 2020 है
योजना के अंतर्गत कितनी किश्ते भरी जाती है ?शहरी के लिए 12 और ग्रामीण के लिए 24 क़िस्त
मुख्यतः किन क्षेत्रों में लागू की गयी है?मध्यांचल, पूर्वांचल, पश्चिमांचल व दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगमों में

यूपी आसान किस्त योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है?

उत्तरप्रदेश सरकार आसान किश्त योजना के द्वारा उन किसानों और बिजली उपभोगताओं को राहत देना है जिन्होंने अब तक बिजली बिल का भुगतान नहीं किया है. ऐसे लोग अपना बिल का बिना परेशान हुए धीरे-धीरे किस्तों में भुगतान कर सकते हैं.

उत्तरप्रदेश आसान किश्त योजना की पात्रता एवं मुख्य दस्तावेज़:-

इस योजना के अंतर्गत उत्तरप्रदेश वाशी सभी शहरी एवं ग्रामीण दोनों ही क्षेत्रों के परिवारों को शामिल किया गया है. इस योजना का लाभ लेने हेतु आवश्यक दस्तावेज़ों में आवेदन कर्ता का बिजली बिल अथवा बिल नंबर है.

उत्तरप्रदेश आसान किश्त योजना में लागु नियम

उत्तरप्रदेश सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए बिजली उपभोगताओं को कुछ नियमों का पालन भी करना होता है.

1 – जिसमे में पहला नियम कुल क़िस्त संख्याओं के बारें में है, शहरी लोगों के लिए 12 किश्ते एवं ग्रामीण लोगों के लिए अधिकतम 24 किश्तों नियम इस योजना में बनाया गया है.

2 – योजना के अंतर्गत 31 अक्टूबर 2019 तक का बकाया बिजली बिल ही किश्तों में भरा जा सकता है, इस दिनांक के बाद के बिल नियमित रूप से भरे जाने अनिवार्य हैं.

3 – इस योजना में पंजीयन करवाने के लिए उपभोगताओं को अपने बिल के बकाया शुल्क का 5% जमा करवाना एवं वर्तमान माह का बिजली बिल भरना भी अनिवार्य है.

4 – योजना के लिए पंजीयन करते समय कम से कम 1500 रुपये की राशि भरनी अनिवार्य है.

5 – मासिक किस्तों के साथ-साथ उपभोक्ता को वर्तमान बिजली बिल भी भरना अनिवार्य और यदि एक माह की किश्त और उस माह का बिल नहीं बारे जाता है तो उपभोक्ता अगले माह में 2 किस्ते एवं दोनों माह का बिजली बिल साथ में भरना होगा.

6 – यदि कोई उपभोक्ता नियमित रूप से दो माह का बिजली बिल एवं किस्तें नहीं चूका पता है तो उसका पंजीयन खत्म कर दिया जाएगा और उसे डिफ़ाल्टर घोषित कर दिया जायेगा.

7 – 31 अक्टूबर तक अपने बकाए बिल का भुगतान नियमानुसार करने पर उपभोक्ता के सरचार्ज हटादिए जायेंगे. लेकिन उपभोक्ता का पंजीयन निरस्त हो जाने पर सरचार्ज माफ नहीं होगा.

8 – इस योजना के अंतर्गत यदि उपभोक्ता बचे हुये सभी बिलों का एक साथ भुगतान करता है तो उसे विशेष छुट दी जाएगी.

उत्तरप्रदेश आसान किश्त योजना के लिए ऑनलाइन पंजीयन कैसे करें?

1 – उत्तर प्रदेश आसान किश्त योजना के ऑनलाइन आवेदन शुरू किये जा चुके हैं और आवेदनकर्ता अपने पर्सनल इंटरनेट कनेक्शन से इसके लिए कर सकते हैं.

2 – जो उपभोक्ता ऑफलाइन पंजीयन करवाना चाहते हैं, वे जन सुविधा केंद्रों एवं खंड एवं उपखंड कार्यालयों में संपर्क कर सकते हैं.

3 – ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उपभोक्ता को बिजली मीटर नंबर देना अनिवार्य होगा और इस नंबर का लगाते ही आगे की पंजीयन के लिए आवश्यक जानकारी मांगी जाएगी, जैसे की बिल अमाउंट, सरचार्ज अमाउंट एवं भुगतान स्टेटस संबंधी जानकारी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *