राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना

यह योजना राजस्थान सरकार के द्वारा चलाई गयी योजना है 30 अगस्त 1994 को इस योजना की शुरुवात की गई थी इस योजना के द्वारा किसानो को 5 हज़ार रूपये से लेकर 2 लाख रूपये तक की आर्थिक सहायता दी जाती है वैसे तो यह योजना तो 1994 से चल रही है लेकिन किसानो को इस योजना के बारे में ज्यादा जानकारी नही होने कारण वो इस योजना का लाभ नही ले पाते है 22 दिसम्बर 2004 में इस योजना का नाम बदलकर ” किसान जीवन कल्याण ” कर दिया गया था उसके बाद फिर 9 दिसम्बर 2009 नाम बदलकर ” राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना ” कर दिया गया था |

See – जन आधार कार्ड के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

Krishak Sathi Sahayata Yojana
Krishak Sathi Sahayata Yojana

क्या प्रदेश के सभी किसान को इस योजना का लाभ मिलेगा ?:-(Will all farmers of the state get benefit of this scheme)

इस योजना का लाभ प्रदेश के सभी किसानो व खेत में काम करने वाले मजदूर को दिया जा रहा है इस योजना के अंतर्गत किसान अगर में खेत में कार्य करते वक़्त या मंडी में फसल बेचने के लिए जाते वक़्त ,या फसल बेचकर आते वक़्त रास्ते में या मंडी प्रांगण में किसान के साथ किसी भी प्रकार की दुर्घटना ग्रसित हो जाती है जैसे – हाथ, पैर टूट जाना ,सर में चोट आना , हाथ पैर कट जाना ,खेत में काम करते वक्त किसी जहरीले जानवर मधुमक्खी, बिच्छू , पालतू या आवारा जानवर ने काट लिया हो,खेत में सिंचाई करते वक्त बिजली का करंट लगना ,मेड़बंदी करते समय चोट आना,कृषि यंत्र उपयोग करते वक्त चोट लगना,ऊंट गाड़ा ,भैंसा गाड़ी या बैल गाड़ी उल्ट जाना, किसान की मृत्यु हो जाना अथार्त अंग-भंग हो जाना मतलब किसान के शरीर को किसी भी प्रकार की चोट लगती है तो किसान या किसान के परिवार को सरकार की तरफ से इस योजना के द्वारा मुआवजा दिया जाता है जो 5 हज़ार रूपये से लेकर 2 लाख रूपये तक की सहायता राशि के रूप में दी जाती है  |

See More – राजस्थान तारबंदी योजना

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का लाभ किस प्रकार मिलेगा :-(How will benefit of Rajiv Gandhi Krishak Saathi Sahayata Yojana)

मृत्यु होने पर किसान के परिवार को = 2 लाख रूपये की मदद दी जाएगी |
दोनों पैर कट जाना , दोनों हाथ कट जाना या कोई एक हाथ ,पैर कट जाना ,आंख से अँधा होना = 50 हज़ार रूपये की मदद |
कोमा में चला जाना सर पर चोट लगने के कारण,रीढ़ की हड्डी टूट जाने पर उसको = 50 हज़ार रूपये की मदद |
बालो की डी स्केप्लिग़ होना महिला हो या पुरष = 40 हज़ार रूपये की मदद |
बालो की आंशिक डी स्केप्लिग़ महिला हो या पुरष = 25 हज़ार रूपये की मदद |
शरीर का एक अंग हाथ,पैर,आंख,पंजा,बांह अंग-भंग हो जाना = 25 हज़ार रूपये की मदद |
हाथ या पैर की चारो अंगुली कट जाने पर = 20 हज़ार रूपये की मदद |
तीन अंगुली कट जाने पर = 15 हज़ार रुपये की मदद |
दो अंगुली कट जाने पर  = 10 हज़ार रूपये की मदद |
एक अंगुली कट जाने पर = 5 हज़ार रूपये की मदद |

More – राजस्थान बेरोजगारी भत्ता योजना

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जरूरी दस्तावेज:- (Documents required to get the benefit of Rajiv Gandhi Krishak Saathi Sahayata  Yojana)

1. अगर किसी भी प्रकार की किसान के साथ कोई दुर्घटना घटित होती है तो वो साबित करने के लिए किसान को राजकीय चिकित्सक का प्रमाण पत्र की आवश्कता होगी |
2.पंचनामे पर संबधित चिकित्सक अधिकारी जिसने ये प्रमाण पत्र जारी किया और दो सरकारी अधिकारी इन सब लोग के हस्ताक्षर की आवश्यकता होगी |
3. किसान की मृत्यु होने पर खेत में या बाहर मतलब कृषि से संबधित कोई भी काम करते वक़्त मृत्यु हो जाती है तो उसके लिए पुलिस एफ.आई.आर और पोस्ट मार्टम रिपोर्ट की आवश्यकता होगी |

More – राजस्थान अपना खाता नकल जमाबंदी खसरा ऑनलाइन देखें

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का लाभ पाने के लिए आवेदन कहा करना होगा :-

इस योजना का लाभ पाने के लिए दुर्घटना ग्रस्त किसान ,खेतिहर मजदुर या किसान की मृत्यु होने पर उसका वैध उत्तराधिकारी को दुर्घटना घटित होने के 6 महीने के अंदर ऊपर बताये गए सारे डॉक्यूमेंट को आपके नजदीकी मंडी समिति में जमा कराने होंगे इसके आगे की करवाई समिति के द्वारा की जाती है वो आपके दी गई जानकारी की जाँच करवाते है अगर आपकी बताई गई जानकारी सही पाई जाती है तो सहायता राशि को किसान या किसान के उत्तराधिकारी को दे दी जाएगी |

Share this post:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: