Atal Pension Yojana 2020 – अटल पेंशन योजना के फायदे क्या हैं ? इससे किस उम्र में और कैसे जुड़ा जा सकता है ?

Atal Pension Yojana 2020 Benifts In Hindi – दोस्तों आजकल हर किसी के पास रिटायरमेंट प्लान होना बहुत जरूरी है चाहे वो गरीब हो या अमीर अपने वृधावस्था या उम्र ढलने पर जब आप काम करने में असफल होते हैं तो आपके बचाये गए पैसे या पेंशन ही आपका सहारा होता है, और यह आपको आत्मनिर्भर और चिंता मुक्त बनाती है। वृद्धावस्था में वित्तीय सुरक्षा सभी की मुख्य चिंताओं में से एक है। हालाँकि संगठित क्षेत्रों के कर्मचारियों के लिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र दोनों में विभिन्न पेंशन योजनाएँ हैं, लेकिन जहाँ तक कार्यबल के असंगठित क्षेत्र की बात है तो ऐसी कोई सार्वभौमिक योजनाएँ नहीं हैं। असंगठित क्षेत्र में कार्यरत कार्यबल में 2011-12 की एनएसएसओ की 66 वीं सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार देश की कुल श्रम शक्ति का 88% है।

इस प्रकार यह भारत की लगभग 48 करोड़ की कुल श्रम शक्ति का एक बड़ा हिस्सा है और असंगठित क्षेत्र में होने के नाते, समाज का यह वर्ग किसी भी सामाजिक या वित्तीय सुरक्षा के बिना काफी हद तक गरीब है; इसलिए, उन्हें अपनी सेवानिवृत्ति के लिए बचत करने और उन्हें बुढ़ापे में सामाजिक सुरक्षा के साथ-साथ वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने का अवसर प्रदान करना अधिक आवश्यक था।

अटल पेंशन योजना में जुड़े 5 नए नियम – जानिए पूरी खबर

हमारे देश में आज भी सिर्फ 20 प्रतिशत लोग ही पेंशन से जुड़े हुए हैं, या जिन्हें पेंशन का लाभ मिलता है।

इसी को ध्यान में रख कर 9 मई 2015 को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कोलकाता में अटल पेंशन योजना (APY) की घोषणा की थी। यह विशेषकर असंगठित क्षेत्रों में काम कर वालों लोगों के लिए है।

इस प्रकार, भारत के नागरिकों के लिए पेंशन योजना को सार्वभौमिक बनाने के लिए, भारत सरकार ने एक नई पेंशन योजना शुरू की है जो विशेष रूप से असंगठित क्षेत्र कार्य बल पर केंद्रित है। इस नई योजना को हमारे पूर्व पीएम श्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम पर रखा गया है: “अटल पेंशन योजना”।

Atal Pension Yojana 2020 In Hindi
Atal Pension Yojana 2020 In Hindi

Atal Pension Yojana 2020 – अटल पेंशन योजना के फायदे क्या हैं ? इससे किस उम्र में और कैसे जुड़ा जा सकता है ?

रुकिए! अब आप पूछेंगे की ये असंगठित क्षेत्र क्या है ? जी हाँ इसका मतलब जिन लोगों पर (इनकम टैक्स) आयकर विभाग की नज़र नहीं होती और आय के मामले में सरकार देखरेख भी नही करती वे लोग असंगठित क्षेत्र से आते है इनकी गणना सकल घरेलू उत्पादन (GDP) में भी नहीं होती है, जैसे कि मजदूर, सब्जी वाले भैया, गोलगप्पे वाला, और इत्यादि ऐसे ही काम करने वाले लोग और जी हाँ चोर बाजार वाले भी! हाँ ये सब असंगठित क्षेत्र से आते है, जिनका कोई औपचारिक अर्थव्यवस्था में भागीदारी नहीं होता है और जो लोग निजि क्षेत्रों में काम या व्यवसाय करतें है तथा जिन्हें पेंशन का लाभ नही मिलता वे इसका लाभ ले सकते हैं ।

अटल पेंशन योजना की विशेषताएँ :

  • इस योजना के तहत भारत सरकार सभी पेंशनभोगियों को कुल राशि का 50 प्रतिशत या सभी ग्राहकों के लिए 1000 रुपये प्रतिवर्ष का सह-योगदान करेगी ।
  • यह एक गारंटीकृत पेंशन योजना है जो कि पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) द्वारा प्रशासित है। APY से संबंधित सेवाएं प्रदान करने के लिए ICICI बैंक PFRDA के साथ पंजीकृत है। 
  • आप 60 वर्ष की आयु पर 1000, 2000, 3000 ,4000 और 5000 रुपये प्रतिमाह तक का पेंशन का विकल्प चुन सकते हैं।
  • पेंशन का निर्धारण आपके अंशदान तथा आयु पर निर्भर करती है।
  • योगदानकर्ता की मृत्यु होने पर पत्नी या पति तथा उनकी मृत्यु पर नामित व्यक्ति को अर्जित धन वापस दे दिया जाएगा।
  • एपीवाई खाते में नामांकन और पति/पत्नी की जानकारी प्रदान करना आवश्यक है।

अटल पेंशन योजना के लिए योग्यता:

  • व्यक्ति की उम्र सिमा 18 वर्ष से 40 वर्ष तक होनी चाहिए।
  • भारतीय नागरिक होना जरूरी है।
  • वैध बैंक खाता आककॉउंट होना चाहिए तथा व्यक्ति किसी भी सामाजिक सुरक्षा योजना का सदस्य नही है, वो इस योजना का लाभ उठा सकता है।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए कम से कम 20 वर्ष तक प्रीमियम अथार्त अंशदान करना आवश्यक है।

यह योजना उम्रदराज लोगों के लिए आर्थिक सुरक्षा लाएगी और निम्न वर्ग ,निचले तथा आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के लोगों के मध्य निवेश तथा बचत को बढ़ावा देगी

अटल पेंशन योजना के लाभ :

  • आवेदक किसी भी बैंक शाखा या डाकघर से अटल पेंशन योजना से जुड़ सकता है
  • ऑटो डेबिट के माध्यम से मासिक त्रैमासिक या अर्धमासिक आधार पर प्रीमियम अंशदान करने की सुविधा।
  • अगर किसी कारणवश आप बीच में ही इस योजना से बाहर आना चाहते हैं तो 5 वर्ष के पश्चात आपको भारत सरकार द्वारा दिया गया सह योगदान राशि भी वापस दे दिया जाएगा, लेकिन इसके लिए आपको वैध कारण बताना है जैसे कि कोई दुर्घटना या कोई विशेष कार्य इत्यादि।
  • अगर आप अपना प्रीमियम 6 महिने तक जमा नही करते हैं तो आपका पेंशन अकॉउंट फ्रीज हो जाएगा तथा
  • 2 साल तक प्रीमियम नहीं भरने पर आपका एकाउंट खाता बन्द कर दिया जाएगा और आपकी जमा या योगदान राशि वापस कर दी जाएगी।

पूरे देश के ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार डाकघरों के माध्यम से इस सुविधा का विस्तार करेगी, ताकि अधिक से अधिक लोगों को इस योजना से जोड़ा जा सके।

 APY से जुडी कुछ कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ :

  • खाते की विवरण और प्रान कार्ड को किसी भी समय, निमंलिखित वेबसाइट पर किसी भी स्थान से देखा जा सकता है https://www.npscra.nsdl.co.in/scheme-details.php
  • PRAN/Transaction Statement View पर जाकर निःशुल्क देखा और भुगतान किया जा सकता है I
  • एंड्रॉयड उपयोग कर्ता गूगल प्लेस्टोर से एपीवाई मोबाइल एप्लीकेशन को ‘एपीवाई और एनपीएस लाइट’ लिख सर्च तथा डाउनलोड कर सकते हैं I

एपीवाई के तहत शिकायत दर्ज करें : 

अटल पेंशन योजना जैसी योजना भारत में बहुत ही जरूरी थी, यह असंगठित क्षेत्र तथा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को वित्तिय सुरक्षा प्रदान करने में एक मिल का पत्थर साबित होगी।

Share this post:

Leave a Comment